Sunday, 17 September 2017

सफर और जिन्दगी

जि़न्दगी और सफर,
कभी कार, कभी बेकार
कभी बस, तो कभी बेबस
कभी रेल, कभी रेलमपेल
कभी हवा हवाई, कभी चेहरे पर
जिन्दगी का सफर

No comments:

Post a Comment